Total Pageviews

Wednesday, July 27, 2011

स्वप्नलोक !




खामोश रातें अक्सर ज़िन्दगी दिखा जाती हैं,
सपनों की खूबसूरत दुनिया की सैर करातीं हैं ,
हर रंग हर रूप यहाँ दिखता है ,
न प्यार न दोस्ती यहाँ कुछ भी नहीं बिकता है ,
हर ओर बस एक नयी सुबह नज़र आती है ,  
सपनों की खूबसूरत दुनिया की सैर करातीं हैं |




ज़िन्दगी कुछ इस तरह भी बनायीं जा सकती है ,
हर तरफ रौशनी भी दिखाई जा सकती है ,
फिर भी हर बार हम स्याह ही क्यूँ निकालते हैं ,
कुछ उजला और सफ़ेद हम हर बार क्यूँ टालते हैं ,
डरते हैं कहीं दाग न लग जाये ,
कोई अपना कहीं हमें फिर न ठग जाये ,
 ये सोच हमें हर बार उस नींद से दूर ले जा
जहाँ रातें हमें सपनों की खूबसूरत दुनिया की सैर करातीं हैं |




क्यूँ न आज हम गहरी नींद में चले जाएँ ,                               
उस स्वप्नलोक की खूबसूरती को एक बार तो देखकर आयें ,
जहाँ हर तरफ सिर्फ बेहिसाब नज़ारे हों ,
झिलमिलाते दूधिया और शांत सितारे हों ,
ये दुनिया हमारी सारी थकान मिटा देगी ,
कोई तकलीफ भी थी हमें ये भी भुला देगी ,
ऐसी दुनिया हमें सिर्फ आँखें बंद करके ही क्यूँ नज़र आती है ,
जहाँ रातें हमें सपनों की खूबसूरत दुनिया की सैर करातीं हैं |


10 comments:

  1. ऐसी दुनिया हमें सिर्फ आँखें बंद करके ही क्यूँ नज़र आती है ,
    जहाँ रातें हमें सपनों की खूबसूरत दुनिया की सैर करातीं हैं |

    सही कहा आपने एसी दुनिया सिर्फ सपनों मे ही नज़र आती है। स्वप्न हर उस चीज़ की तमन्ना पूरी कर देते हैं जिसकी हमे चाहत होती है।
    कुछ पल की शांति और सुकून स्वप्न मे ही सही क्योंकि वास्तविक जीवन मे इसकी चाहत मे उम्र ही बीत जाती है।

    बहुत अच्छा लिखा है आपने।

    सादर

    ReplyDelete
  2. मानव मनोविज्ञान की बेहतर अभिव्यक्ति ।

    ReplyDelete
  3. स्वप्नलोक की खूबसूरती को दर्शाती प्रस्तुति.....

    ReplyDelete
  4. कल 29/07/2011 को आपकी एक पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  5. बेहद खूबसूरत अभिव्यक्ति. आभार.
    सादर,
    डोरोथी.

    ReplyDelete
  6. वाह ... बहुत ही शानदार प्रस्‍तुति ..बधाई ।

    ReplyDelete
  7. अच्छी अभिव्यक्ति ......

    ReplyDelete
  8. कल ,शनिवार ३०-७-११ को आपकी किसी पोस्ट की चर्चा होगी नयी -पुरानी हलचल पर..कृपया अवश्य पधारें ..!!

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...